मध्यप्रदेश नए सीएम मोहन यादव की 5 सबसे बड़ी घोषणाएं, लाड़ली बहनों को मिलेगा बड़ा लाभ

शिक्षा को सुधारने और छात्रों को डिजिटल रूप में समर्थ बनाने के लिए, केंद्र सहित राज्य सरकार ने नई-नई योजनाएं शुरू की हैं, जिनमें स्कूल और कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों को उच्च शिक्षा और प्रोत्साहन राशि के साथ छात्र वृत्ति योजना भी शामिल है। आधुनिक युग में, शिक्षा का अर्थ अब पेन और कॉपी की परंपरागत मेधों से ही सीमित नहीं है, बल्कि वह वेब डिजाइनिंग, डेटा साइंस, ब्लॉकचेन, और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के क्षेत्रों में भी बढ़ रहा है। इन तकनीकों में दुनिया भर में तेजी से प्रगति को देखते हुए, छात्रों को इन नई उदार दृष्टिकोणों से परिचित कराना आवश्यक है। कुछ उच्च शिक्षा के संस्थान इन तकनीकों को अपने पाठ्यक्रमों में समाहित कर रहे हैं, लेकिन विभिन्न कारणों से कुछ छात्र इन विषयों में लैपटॉप की अभावशीलता के कारण अपनी पढ़ाई में समस्या का सामना कर रहे हैं।

महात्मा गाँधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना के तहत राज्य में बनेंगे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क

मध्य प्रदेश सरकार ने छात्रों की इस समस्या का समाधान के लिए मुफ्त लैपटॉप योजना की शुरुआत की है। इस योजना को AICTI के माध्यम से आयोजित किया गया है, जिसका नाम “वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना” है। इस योजना के अंतर्गत, मध्य प्रदेश सरकार छात्रों को मुफ्त में लैपटॉप प्रदान करेगी। इस लेख में, “वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना” के बारे में पूरी जानकारी दी गई है।

5 biggest announcements of new Madhya Pradesh CM Mohan Yadav
5 biggest announcements of new Madhya Pradesh CM Mohan Yadav

Table of Contents

क्या है “वन स्टूडेंट वन लैपटॉप” योजना?

AICTI ने आरंभ किए गए “एक स्टूडेंट एक लैपटॉप योजना” का उद्देश्य उच्च शिक्षा संस्थानों के छात्रों को डिजिटल शिक्षा के लिए लैपटॉप प्रदान करना है। इस योजना के तहत, सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर और दिव्यांग छात्रों के लिए CSR फंडिंग के साथ लैपटॉप प्रदान किया जाएगा। इस महत्वपूर्ण पहल से, डिजिटल युग में बढ़ती तकनीकी ज़रूरतों को समझने के लिए छात्रों को एक स्टेप आगे ले जाने का मौका मिलेगा।

Skill India Mission 2024 के अंतर्गत बेरोजगार युवाओं के लिए सुनहरा मौका यहाँ से करें आवेदन

वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना के लाभ एवं विशेषताएँ

इस योजना का उपयोग करने से, छात्र स्वयं से सहारा लेकर आत्मनिर्भर और सशक्त बनेंगे।
योजना के तहत, आर्थिक और सामाजिक रूप से कमजोर और विकलांग छात्रों को लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा।
इससे छात्र न केवल शिक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेंगे, बल्कि उन्हें नई तकनीकों के प्रति भी आकर्षित किया जाएगा।

वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना की पात्रता

एक विद्यार्थी को किसी कॉलेज में पढ़ना एक गर्वनीय और उत्कृष्ट स्थिति होनी चाहिए।
इस योजना से लाभ उठाने के लिए, छात्र को मध्य प्रदेश के मूल निवासी होना आवश्यक है।
तकनीकी कॉलेज में अध्ययन कर रहे छात्र इस योजना के पात्र माने जाएंगे।
इस योजना के अंतर्गत, आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को इसका अधिकार होगा।
साथ ही, विकलांग छात्रों को भी इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।

आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

आधार कार्ड, मूल निवास, आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, पहचान पत्र, शैक्षिक योगिता, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट फोटो

वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना की आवेदन प्रक्रिया

उन छात्रों के लिए, जो कॉलेज में तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं, और जो आर्थिक रूप से कमजोर या दिव्यांग हैं, एक नई दिशा की ओर कदम बढ़ाने का मौका आया है। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई “वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना” के अंतर्गत, इन छात्रों को मुफ्त लैपटॉप प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें नई तकनीकों से अवगत होने का सुझावित करने का एक सुनहरा अवसर मिलेगा। वन स्टूडेंट वन लैपटॉप योजना की आवेदन प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है, लेकिन इसकी अपडेट के लिए बचाव के रूप में हम आपको सूचित करेंगे।

Leave a Comment