PM Jan Dhan Yojana Update: सरकार ने दिया बड़ा अपडेट, अगर आपने भी ओपन करवाया है जनधन अकाउंट, तो तुरंत देखें यह जानकारी

PM Jan Dhan Yojana Update: भारत सरकार ने लोगों के कल्याण के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं की शुरुआत की है और समय-समय पर नई योजनाओं को लागू किया जा रहा है। कुछ साल पहले, जनधन योजना को शुरू किया गया था, जिसने देशभर में लाखों लोगों को बचत करने का अवसर प्रदान किया। यह योजना वर्तमान में करोड़ों लोगों को लाभ पहुंचा रही है, और यह सबको वित्तीय समृद्धि की दिशा में एक कदम आगे बढ़ने में मदद कर रही है। वित्त मंत्रालय की एक नई जानकारी के अनुसार, अब तक इस योजना से लगभग 51 करोड़ से अधिक लोगों को यह लाभ पहुंचा है है।

महात्मा गाँधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना के तहत राज्य में बनेंगे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क

भारत सरकार ने 2014 में 28 अगस्त को प्रधानमंत्री जनधन योजना की शुरुआत करके लोगों को सेविंग के लिए प्रोत्साहित करने का सार्थक प्रयास किया। इस योजना के तहत, देश भर में 50 करोड़ से अधिक खाते खोले जा चुके हैं। इस योजना में कोई भी उम्र का व्यक्ति अपना खाता खोलवा सकता है, और खाता खोलने के बाद इसे सामान्य बैंक खाते की तरह प्रबंधित किया जा सकता है।

PM Jan Dhan Yojana Update

पीएम जन धन योजना से मिलने वाले लाभ

प्रधानमंत्री जनधन योजना में एक नई सुधार के अनुसार, आप अब अपने खाते को मिनिमम ₹0 से भी ओपन करवा सकते हैं, और आपको न्यूनतम बैलेंस बनाए रखने की चिंता नहीं करनी पड़ती है। इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने के बाद, आप आसानी से सरकारी सब्सिडी और योजना के तहत पैसे को अपने जनधन खाते में प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, इस योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बीमा भी मिलता है, और खाता होल्डर को एक रुपए कार्ड भी प्रदान किया जाता है। साथ ही, खाता होल्डर ₹10,000 के ओवरड्राफ्ट के लिए भी पात्र होते हैं।

Skill India Mission 2024 के अंतर्गत बेरोजगार युवाओं के लिए सुनहरा मौका यहाँ से करें आवेदन

मंगलवार को सरकार ने जनधन योजना के तहत खुलवाए गए खातों में से लगभग 20% खाते फिलहाल एक्टिवेट नहीं होने का आंकलन किया है, इसकी जानकारी वित्त राज्य मंत्री भगवत कराड़ ने राज्यसभा में दी। उनके लिखित उत्तर के अनुसार, 6 दिसंबर तक कुल 10.34 करोड़ निष्क्रिय प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों में से लगभग 4 करोड़ 93 लाख खाते महिलाओं के हैं।

20 फीसदी खाते हैं निष्क्रिय

उनके द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, बैंक द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ों के अनुसार, लगभग 51.11 करोड़ प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों में से लगभग 20% खाते 6 दिसंबर तक निष्क्रिय थे।

निष्क्रिय खाते में 12,779 करोड़ रुपये

मंत्री ने बताया कि निष्क्रिय प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों का परसेंटेज बैंकिंग सेक्टर में टोटल डीएक्टीवेटेड अकाउंट के परसेंट के बराबर है। उनके अनुसार, डीएक्टिवेटेड प्रधानमंत्री जनधन योजना खातों में वर्तमान में लगभग ₹12,779 करोड़ जमा है, जो इस योजना के अकाउंट में जमा शेष के लिए लगभग 6.12 पर्सेंट है। उन्होंने बताया कि इस बचे हुए पैसे पर एक्टीवेटेड अकाउंट पर लागू ब्याज के बराबर ही ब्याज अकाउंट होल्डर को प्रदान किया जा रहा है, और यदि अकाउंट रिएक्टिवेट होते हैं, तो जमा कर्ता बर्दाश्त कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार निरंतर इस प्रकार के अकाउंटों पर नजर रख रही है और उनकी प्रगति की निगरानी कर रही है, ताकि लोग अपने जनधन योजना खातों को डीएक्टिवेट नहीं करें।

वित्त मंत्रालय ने दी जानकारी

भारतीय वित्त मंत्रालय ने ट्विटर पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से साझा किया है कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत, इसे लागू होने के बाद से लेकर अब तक, इस योजना के लाभार्थियों में महिलाओं का परसेंटेज 55.5 है। उनके अनुसार, 22 नवंबर तक इन अकाउंट्स में कुल ₹2.10 लाख करोड़ जमा थे। यहां एक महत्वपूर्ण तथ्य है कि, जनधन योजना के तहत ओपन किए गए टोटल 4.30 करोड़ अकाउंट्स में अब तक बैलेंस शून्य है। इसका मुख्य कारण है कि सरकार ने योजना के तहत जो भी अकाउंट ओपन होंगे, उनमें न्यूनतम बैलेंस रखने की कोई आवश्यकता नहीं है।

होमपेज यहां क्लिक करें
अधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें

Leave a Comment