होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने, इसके लिए कौनसा कोर्स करना पड़ेगा

Homeopathic doctor Kaise bane: वैसे तो होम्योपैथिक से संबंधित कई तरह के एक कोर्स होते हैं लेकिन होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए आपको कोर्स करना तो ज़रूरी होता ही है इसके अलावा आपको कई तरह के लाइसेंस की भी जरूरत पड़ती है लाइसेंस के बिना आप अपना क्लिनिक नहीं खोल सकते तो आइये जानते हैं कि होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कौन कौन से कोर्स हैं उनमें कितना खर्च आएगा और कौन कौन से लाइसेंस की जरूरत पड़ती है तो अगर आप भी इसके बारे में पूरी इन्फॉर्मेशन चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

Homeopathic doctor Kaise bane
Homeopathic doctor Kaise bane

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए आपको क्या करना होता है?

होम्योपैथी के डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले तो आपको ट्वेल्थ फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलोजी विषय से पास करनी पड़ेगी उसके बाद नीट नाम का एंट्रेंस एग्जाम देना होगा जिसमें अच्छे खासे नंबर आपको लाने होंगे उसके बाद ही आप सरकारी या प्राइवेट कोहली से बीएचएमएस नाम का कोर्स कर सकते हैं बीएचएमएस यानी की बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन ऐंड सर्जरी इस कोर्स के बाद ही आप होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते हैं.

NEET में कितने मार्क्स चाहिए गवर्नमेंट कॉलेज के लिए?

बीएचएमएस कोर्स कितने साल का होता है और कितनी फीस लगती हैं?

बीएचएमएस कोर्स से 5.5 साल का होता है जिसमें से 4.5 साल तो आपको कॉलेज में पढ़ाई करनी होती है और 1 साल आपको डॉक्टर के यहाँ पर या होम्योपैथी दवाइयों की कंपनी में आपको इंटर्नशिप करनी पड़ती है इस तरह से 5.5 साल में जाकर ये है कोर्स पूरा होता है इस कोर्स को सरकारी को सरकारी कॉलेज से करने पर इसकी फीस 1,00,000 से 2,00,000 रूपये तक पड़ती है लेकिन प्राइवेट कॉलेज में यह फीस 4,00,000 रूपये तक भी जा सकती है.

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए आपको कौन से लाइसेंस की जरूरी पड़ती है?

होम्योपैथिक डॉक्टर डॉक्टर बनने के लिए आपको कुछ लाइसेंस की भी जरूरत पड़ती है उसके लिए आपको सबसे पहले तो सेंट्रल काउन्सल ऑफ इंडियन मेडिसिन सीसीआईएम में रजिस्ट्रेशन करना होगा इसके लिए आपको सीसीआइएम की वेबसाइट ccimindia.org.in पर जाना होगा और रजिस्ट्रेशन ऑप्शन पर जाकर इसके लिए आपको अप्लाई करना होगा जहाँ पर आपको अपने सभी डॉक्यूमेंट भी जमा करने होंगे और कुछ ही रजिस्ट्रेशन फीस जमा करनी पड़ती है इस तरह से सीसीआईएम में रजिस्ट्रेशन होने के बाद आपको अपने राज्य की मेडिकल काउंसिल में रजिस्ट्रेशन करना होता है.

लड़कियों के लिए 12वीं साइंस के बाद बेस्ट करियर ऑप्शन

इसके लिए आपको गूगल पर जाकर अपने राज्य का नाम जैसे हम उत्तर प्रदेश ले लेते हैं और उसके आगे मेडिकल काउन्सल लिखकर इस सर्च करना होगा उसके बाद आपकी राज्य की वेबसाइट आ जाएगी और वहाँ पर जाकर आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा और अपने सभी डॉक्यूमेंट वहाँ पर जमा करने पड़ेंगे इसके बाद अगर आप अपने क्लिनिक में होम्योपैथी की दवाइयां भी रखना चाहते हैं तो आपको ड्र*ग लाइसेंस भी लेना रहेगा जो आपको स्टेट ड्र*ग कंट्रोल डिपार्टमेंट से बनवाना पड़ेगा इसके साथ ही आपको अपनी नगरपालिका प्राधिकरण में ट्रेड लाइसेंस भी बनवाना पड़ सकता है तो इस तरह से इन्हें लाइसेंस की आपको जरूरत पड़ेगी जिसके बाद आप अपना क्लीनिक खोल पाएंगे और एक होम्योपैथिक डॉक्टर आप बन पाएंगे.

इसके अलावा होम्योपैथिक में ही बीएससी इन होमियोपैथी या डिप्लोमा इन होम्योपैथिक मेडिसिन ऐंड सर्जरी इस तरह के कोर्स भी आप कर सकते हैं इन कोर्स में बीएचएमएस से कम फीस लगती है इनके बाद आप होम्योपैथिक डॉक्टर तो नहीं बन पाएंगे लेकिन इस डिपार्टमेंट में एक अच्छी खासी नौकरी आप कर सकते हैं जहाँ पर आपको अच्छा खासा वेतन भी मिल जाएगा.

बीएससी एग्रीकल्चर क्या है

हम उम्मीद करते हैं कि ये जानकारियां आपके लिए काफी फायदेमंद होगी इसके अलावा अगर आप किसी अन्य कोर्स के बारे में जानकारी चाहते हैं तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का उत्तर जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे.

Leave a Comment