नीट क्या है: नीट करने के लाभ और सम्पूर्ण जानकारी

NEET kya hota hai: वर्तमान समय में हर व्यक्ति अपने करियर को सुरक्षित करना चाहता है कई सारे ऐसे सेक्टर है जो जॉब उपलब्ध कराते हैं उन्हीं में से मेडिकल सेक्टर भी एक है जिसके लिए NEET परीक्षा पास करनी होती है यदि आप मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं और नीट की तैयारी करना चाहते तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको नीट करने के लाभसे संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढें जिससे आप सभी चीजों के बारे में बेहतर तरीके से जान सकेंगे.

NEET kya hota hai
NEET kya hota hai

NEET का फुल फॉर्म क्या होता है

NEET का फुल फॉर्म National Eligibility Cum Entrance Exam होता है जिसे हिंदी में “राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा” कहते है.

NEET क्या है?

NEET का फुल फॉर्म National Eligibility Cum Entrance Exam होता है जिसे हिंदी में “राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा” कहते है किन्तु NEET शब्द प्रचलन में अधिक है NEET के entrance को NTA संस्था द्वारा आयोजित किया जाता है NTA  यानी National Testing Agency एक ऐसी संस्था है जो उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षाएं आयोजित कराती है इसे सोसायटी पंजीकरण अधिनियम ,1860 के तहत स्थापित किया गया था NEET के entrance को भी इसी NTA संस्था द्वारा आयोजित किया जाता है.

NEET प्रवेश पारीक्षा उत्तीर्ण करके आप गवर्नमेंट कालेज से मेडिकलकोर्स करके डाक्टर बन सकते है यह परीक्षा साल में सिर्फ एक बार ही होती है NEET का exam ऑफलाइन होता है जिसके लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है और सिर्फ 17 वर्ष से अधिक तथा 25 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति ही इसके लिए आवेदन कर सकते है नीट परीक्षा का प्राथमिक उद्देश्य MBBS और BDS पाठ्यक्रमो में प्रवेश प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करना है जिसके तहत देश में मौजूद कई मेडिकल परीक्षाओ को हटाने के लिए NEET परीक्षा शुरू की गयी थी  “आल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट, नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट” को CBSE और मेडिकल काउन्सिल ऑफ़ इंडिया (MCI ) ने शुरू किया.

BSC MLT कोर्स के बारे में पूरी जानकारी

NEET एग्जाम के लिये शैक्षिक योग्यता

नीट एग्जाम के आवेदन के लिए विद्यार्थियों को बारहवीं कक्षा साइंस स्ट्रीम से कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी होगी इसी के साथ कम्युनिकेशन स्किल भी अच्छी होनी चाहिए और अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिये.

NEET एग्जाम के लिए आयु सीमा

इस प्रवेश परीक्षा के आवेदन के लिए उम्मीदवार की आयु 17 वर्ष से अधिक तथा 25 वर्ष से कम होनी चाहिये और उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए यदि उम्मीदवार SC/ST,PH category का है तो उसे 30 year तक छुट मिलती है.

लड़कियों के लिए 12वीं साइंस के बाद बेस्ट करियर ऑप्शन

नीट करने के लाभ

  • यदि आप मेडिकल लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो नीट प्रवेश परीक्षा पास करनी ज़रूरी है
  • नीट पास करने के बाद आपको बहुत सारी जॉब अपॉर्च्युनिटीज मिलती है.
  • नीट परीक्षा क्लियर करने के बाद आप बीयूएमएस, एमबीबीएस, बीडीएस, बीएएमएस जैसे पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते हैं
  • यदि आपने नीट क्लियर कर लिया है तो आपको मेडिकल क्षेत्र में आसानी से जॉब मिल सकती है.
  • नीट एग्जाम क्रैक करने के बाद आप सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि अन्य देशों में जाकर मेडिकल से संबंधित पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते हैं .
  • नीट प्रवेश परीक्षा क्लियर करने के लिए आपको 3 मौके दिए जाते हैं यदि आप3 चांस में नीट क्लियर कर लेते हैं तो आपका भविष्य सुरक्षित हो जाता है.
  • यदि आपने अच्छे अंकों से नीट उत्तीर्ण की है तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज दिया जाएगा जिसमें आपको बहुत ही कम फीस का भुगतान करना होगा.
  • आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थी नीट प्रवेश परीक्षा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करके आगे की पढ़ाई के लिये सरकारी कॉलेज प्राप्त कर सकते हैं.
  • नीट एग्जाम क्लियरकरने से मेडिकल कॉलेज में आसानी से प्रवेश मिल जाता है.
  • नीट परीक्षा पास करने के बाद आप डॉक्टर, डेंटिस्ट, फार्मासिस्ट, सर्जन, नर्सआदि जैसे पदों पर कार्य कर सकते हैं.
  • नीट परीक्षा क्रैक करके मेडिकल लाइन में आप अच्छी खासी सैलरी वाली जॉब कर सकते हैं.

नीट एग्जाम क्रैक करने के लिए स्टूडेंट्स को अधिकतम 3 मौके दिए जाते हैं.

नीट एग्जाम के लिए टॉप कोचिंग सेंटर

  • फिजिक्स वाला
  • रेजोनेंस कोचिंग सेंटर
  • कैरियर पॉइंट
  • पेस आईआईटी मेडिकल कोचिंग सेंटर
  • एलन कोचिंग सेंटर
  • आकाश इंस्टिट्यूट

नीट एग्जाम के बाद जॉब प्रोफाइल

  • मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट
  • फार्मासिस्ट
  • सरकारी चिकित्सा अधिकारी
  • मेडिकल शिक्षक
  • मेडिकल अधिकारी
  • डॉक्टर
  • सर्जन
  • डेंटिस्ट
  • चिकित्सा कानूनी सलाहकार
  • चिकित्सा उपकरण इंजीनियर
  • चिकित्सा प्रशासनिक अधिकारी
  • फिजिशियन
  • मेडिकल राइटर
  • रिसर्चर

नीट करने के बाद क्या करें

  • पोस्ट ग्रैजुएशन इन मेडिकल
  • पैरामेडिकल कोर्स
  • मेडिकल कोर्स
  • वैज्ञानिक
  • शिक्षा के क्षेत्र में कार्य
  • बीएससी नर्सिंग

NEET परीक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

  • यदि आप मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं और MBBS कोर्स करना चाहते हैं तो आपको नीट परीक्षा पास करनी होगी.
  • नीट परीक्षा में 720 में से 610 या उससे ज्यादा अंक लाने होंगे तभी आपका एडमिशन किसी अच्छे मेडिकल कॉलेज में होगा.
  • यदि आप नीट परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं तो दसवीं में कम से कम 60% अंक होने चाहिए.
  • नीट परीक्षा के विद्यार्थी को बारहवीं में 50% अंक लाने होंगे आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों को 45% या उससे ज्यादा अंक लाने होंगे.
  • दसवीं और बारहवीं की परीक्षा साइंस स्ट्रीम से पास करनी होगी.
  • यदि आप सामान्य वर्ग या OBC वर्ग से हैं तो MBBS कोर्स में एडमिशन के लिए आपको 720 में से कम से कम 630 नंबर लाने होंगे तभी आपका एडमिशन सरकारी कॉलेज में होगा.
  • यदि आप आरक्षित वर्ग के विद्यार्थी है तो MBBS कोर्स में एडमिशन के लिए आपको 720 नंबर में से 450 या फिर उससे ज्यादा अंक लाने होंगे तभी आपका एडमिशन सरकारी कॉलेज में होगा.
  • BDS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए जनरल कैटेगरी के विद्यार्थियों को नीट परीक्षा में 720 अंक में से 580 अंकसे ज्यादा लाने होंगे.
  • बीडीएस कोर्स में एडमिशन के लिए ओबीसी कैटेगरी के विद्यार्थियों को 720 अंक में से 570 अंक से ज्यादा लाने होंगे.
  • बीडीएस कोर्स में एडमिशन के लिए एससी/एसटी कैटेगरी के विद्यार्थियों को 720 अंक में से 470 अंक से ज्यादा लाने होंगे.
  • यदि सामान्य वर्ग का विद्यार्थी BUMS यानी बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स में एडमिशन लेना चाहता है तो उसे 720 अंकों में से 540 अंक से ज्यादा लाने होंगे.
  • BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों को 720 में से 500 सबसे ज्यादा अंक लाने होंगे.
  • एससी/एसटी वर्ग के विद्यार्थियों को BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए 720 में से 450 अंक से ज्यादा लाने होंगे
  • यदि विद्यार्थी BAMS यानी बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन ऐंड सर्जरी कोर्स करना चाहता है तो उसके लिए नीट परीक्षा में 720 में से 550 अंक लाने होंगे तभी आपका एडमिशन सरकारी कॉलेज में होगा.
  • BAMS कोर्स में एडमिशन के लिए यदि आप प्राइवेट कॉलेज चुनते हैं तो 720 में से 180 या फिर उससे ज्यादा अंक लाने पर भी आपका एडमिशन हो जायेगा.
  • BHMS कोर्स यानी बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा में विद्यार्थियों को 720 में से 550 अंक लाने होंगे.

नीट एग्जाम में कितना खर्च होता है?

नीट एग्जाम की तैयारी के लिए कितना खर्च आता है यह आपके ऊपर निर्भर करता है यदि आप बिना कोचिंग सेंटर के सेल्फ स्टडी करके तैयारी कर सकते हैं तो ₹50,000 से लेकर ₹1,00,000 तक के खर्च में आपकी तैयारी हो जाएगी किंतु यदि आप एक अच्छा कोचिंग सेंटर हायर करते हैं और उसके थ्रू तैयारी करते हैं तो आपको लगभग ₹1,00,000 से लेकर ₹3,00,000 तक के बीच में खर्च करना पड़ सकता है क्योंकि कोचिंग सेंटर की फीस महंगी होती है यदि आप ज्यादा सुविधाएँ चाहते हैं तो इससे ज्यादा का खर्चा आ सकता है.

12th के बाद DMLT कोर्स कैसे करे?

नीट एग्जाम की तैयारी के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

यदि आप नीट परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं तो इसके लिए कई सारे ऐसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जहाँ से आप तैयारी कर सकते हैं जैसे वेदांतु, बाईजूस, अनएकेडमी, आकाश इंस्टिट्यूट, प्रीप्लेडर, प्रज्ञान अकैडमी, स्टडी आईक्यू आदि.

NEET में कितने मार्क्स चाहिए गवर्नमेंट कॉलेज के लिए?

NEET आवेदन की फीस

General और OB Ccategory के उम्मीदवारों के लिए Rs.1400 तथा sc/st,ph category के उम्मीदवारों के लिए Rs.750 आवेदन fees भरनी पड़ेगी.

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का यह लेख “नीट क्या है: नीट करने के लाभ और सम्पूर्ण जानकारी” आर्टिकल पसंद आया होगा यदि आपको ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment